Helper4U

All About Hiring Helpers

Information

नवरात्री क्यों मनाई जाती है

“नवरात्रि” शब्द दो शब्दों से बना है: “नवा” मतलब “नौ” और “रत्री” मतलब “रात” | यह त्यौहार 9 रातों  और 10 दिनों में मनाया जाता है और हिंदू धर्म में सबसे पवित्र त्यौहारों में से एक है. | इसमें हम देवी दुर्गा या शक्ति की पूजा करते हैं| देवी दुर्गा ब्रह्मांड की ऊर्जा का प्रतिनिधित्व करती हैं  और हम नौ दिनों तक उनके नौ रूपों की पूजा करते हैं!

भारत के विभिन्न हिस्सों में प्र नवरात्रि मनाए जाने के अलग अलग कारण हैं ! आइए इनमें से दो के बारे में जानते हैं.

mahishasur wadh

महिषासुर वध 

महिषासुर एक दानव था जिसने वरदान प्राप्त करने के लिए गंभीर तपस्या की है कि कोई नर उसे मार नहीं पायेगा. उसने स्त्री को कमज़ोर समझा| वरदान मिलने पर उसने हर जगह उत्पाद मचाना शुरू कर दिया . उसे रोकने के लिए, शक्ति ने दुर्गा का एक बहुत ही सुंदर रूप लिया . | उन दोनों ने 9 दिनों तक लड़ाई लड़ी, और 10 वें दिन दुर्गा ने महिषासुर को मार डाला। 10 वें जीत के दिन को विजयदाश्मी कहा जाता है।

रावण वध से पहले राम द्वारा दुर्गा की पूजा

Vijaya dashmi

भगवान राम ने रावण को मारने के लिए देवी के आशीर्वाद के लिए 9 दिनों तक उपवास किया और प्रार्थना की। दसवें दिन राम ने रावण को मारा और वह दिन विजय दशमी के नाम से मशहूर हुआ|

नवरात्रि के 9 दिनों के दौरान, दुर्गा के 9 रूपों की पूजा की जाती है:

1.      

शैलापुत्री: यह ब्रह्मा, विष्णु और शिव की प्रारंभिक ऊर्जा से हिमालय की बेटी (पुत्री) के रूप में पैदा हुई थी (शैला मतलब पहाड़)

2.       brahmacharini

भ्रामाचारीनी: यह देवी रूप तपस्या का रूप है जो आनंद और मोक्ष की ओर ले जाता है

3.      

चंद्रघंटा: यह एक शेर की सवारी करने वाली 1 0 हाथों में अस्त्र  लिए, एक घंटी के आकार का चन्द्रमा माथे पर पर लिए, बुरी ताकतों का अंत करने वाली देवी है | इन्हे चंडिका भी कहा जाता है

4.      

कुष्मांडा: ब्रह्मांडीय अंडा”, गर्मी लिए हुए, यह देवी ब्रह्मांड गर्मी लिए हुए, यह निर्माता है

5.      

स्कंदमाता: यह स्कंद या भगवान कार्तिकेय की मां हैं

6.     

कटयायणी: ऋषि कटयायन की पुत्री के रूप में, वह दुर्गा का एक भयंकर रूप है

7.     

कालरात्रि : काल (समय) की मृत्यु के रूप में, यह देवी जीवन के दूसरी तरफ – मौत की तरफ दिखाती है। यह दुर्गा का सबसे भयानक और निर्दयी रूप है

8.      

महा गौरी: यह देवी शांति का प्रतिनिधित्व करती है और अपने भक्तों को ज्ञान प्रदान करती है

9.     

सिद्धिदात्री : यह देवी सभी इच्छाओं का पूरा करती है और वरदान  देती हैं

इन सब रूपों में मिलकर देवी शक्ति, ज्ञान और समृद्धि की दाता होती हैं.

Follow Us

Helper4U

Helper4U.in is the best way for hiring of unskilled or semi-skilled Helpers across India, without an Agency.
Follow Us

Latest posts by Helper4U (see all)

Comments are Closed

Theme by Anders Norén